दिनेश सिंह सूरियाल/ऋषिकेश।एम्स ऋषिकेश में अवैध पार्किंग को बंद कराने के साथ ही स्थानीय युवाओं को 70 प्रतिशत को रोजगार दिलाने की मांग को लेकर आंदोलनकारियों का धरना प्रदर्शन नौवें दिन भी जारी रहा।  

जागृति एक प्रयास संस्था के बैनर तले आंदोलनकारियों का त्रिवेणी घाट स्थित गांधी स्तंभ पर एम्स में अवैध पार्किंग को बंद करवाने के साथ ही एम्स में उत्तराखंड के स्थानीय बेरोजगार युवाओं को 70 प्रतिशत रोजगार दिलाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन नौवें दिन भी जारी रहा। 

इस मौके पर आंदोलनकारियों ने एम्स प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन भी किया। इस मौके पर जागृति एक प्रयास संस्था के अध्यक्ष अरविंद हटवाल ने कहा कि एम्स ऋषिकेश में पार्किंग के नाम पर लोगों को ठगा जा रहा है। 

उन्होंने बताया कि एम्स में टू व्हीलर पार्किंग में खड़ा करने पर 20 रुपए व फोर व्हीलर को खड़ा करने पर 40 रुपए वसूले जा रहे हैं। साथ ही दिन भर में जितनी बार भी आप अपने वाहनों को पार्किंग में खड़ा करोगे उतनी बार ही आपको पार्किंग शुल्क अदा करना होगा। 

क्योंकि एम्स प्रशासन द्वारा उन लोगों को खुलेआम लूटा जा रहा है। समाज सेवी विजय पंवार ने कहा हिटलर शाही का राज एम्स में चल रहा है। 

एम्स की हठधर्मिता के कारण लोग खासे परेशान हैं। दीपक कंडारी ने कहा एम्स प्रशासन की तानाशाही के आगे शासन प्रशासन एवं सभी जनप्रतिनिधियों की चुप्पी आपसी सांठगांठ की ओर इशारा करती है। उन्होंने कहा कि जब तक दोनों मांगे नहीं मानी जाती हैं उनका आंदोलन जारी रहेगा। 

धरना देने वालों में डीएस गुसाईं, हरीश आनंद, वेदप्रकाश धिगड़ा, दीपक कन्डारी, रमेश आहूजा, हरीश विरमानी, जगजीत सिंह जग्गी, भूपेंद्र राणा, डीएस गुसांईं, महंत गोपाल गिरी, विजय सिंह पंवार, सरोजिनी थपलियाल, केके तडियाल, समाज सेवी मनीषा वर्मा, डॉ आशुतोष डंगवाल,ऋषि राज, चंद्रकांता जोशी आदि मौजूद थे।
Share To:

Post A Comment: