-बेहोशी की हालत में राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में भर्ती

दिनेश सिंह सुरीयाल/ऋषिकेश।जहरखुरानी गिरोह के सदस्य अब कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों के हाथों में सेनीटाइजर छिड़ककर बेहोश कर रहे हैं और गिरोह का शिकार बन रहे हैं। जिसके तहत गिरोह के सदस्यों ने उत्तराखंड परिवहन निगम ऋषिकेश डीपो के एक ड्राइवर को बेहोश कर दिया। 

जिसे बेहोशी की हालत में राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है।जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह को उत्तराखंड परिवहन निगम ऋषिकेश डीपो का ड्राइवर भीष्म 40 वर्ष पुत्र महेन्द्र अपने घर लश्कर (हरिद्वार) ऋषिकेश के लिए ड्यूटी के लिए चला। 

वह हरिद्वार बस स्टेशन से परिवहन निगम की बस से ही ऋषिकेश के लिए निकला। जिसे रास्ते में जहरखुरानी गिरोह के सदस्यों ने कोराना वायरस से बचाव के लिए उसके हाथों पर सेनीटाइजर का छिड़काव किया। जिससे वह बेहोश हो गया। 

जब ऋषिकेश स्टेशन पर सभी सवारियां नीचे उतरी तो वह अपनी सीट पर ही बैठा रहा। जिसकी जानकारी रोडवेज की महिला परिचालक ने पुलिस को दी। जैसे ही पुलिस रोडवेज के समीप पहुंची तभी वहां मौजूद ऋषिकेश डीपो के इंचार्ज महेंद्र कुमार भी वहां पर पहुंचे और वह भी पुलिस के साथ बस के अंदर घुसे तो उन्होंने देखा कि वह तो उनकी डीपो का ही ड्राइवर है। 

जिसे बेहोशी की हालत में उन्होंने और उनके अन्य साथियों ने राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश पहुंचाया और भर्ती कराया।जहां उसका उपचार चल रहा है।हरेंद्र कुमार ने बताया कि बेहोशी की हालत में भीष्म ने बताया कि जब वह हरिद्वार बस स्टेशन से बस पर चढ़ा तो उसे कुछ लोगों ने कोराना वायरस से बचाव के लिए उसके हाथों पर सेनीटाइजर का छिड़काव किया। उसके बाद मुझे कुछ भी पता नहीं है।अभी भी वह बेहोशी की हालत में अस्पताल में भर्ती है। हरेंद्र कुमार ने बताया कि उन्होंने इसकी जानकारी उनके परिजनों को दे दी है।
Share To:

Post A Comment: