आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल 


-नवरात्रि में कुछ राशि वालों की खुलेगी किस्मत


एस के विरमानी/ऋषिकेश।चैत्र नवरात्रि की शुरुआत 25 मार्च से हो रही है जो 2 अप्रैल को खत्म होगी। इस दौरान गुरु यानी बृहस्पति ग्रह अपनी राशि बदलेंगे। गुरु 29 मार्च को रात 7:08 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे। उत्तराखंड ज्योतिष रत्न आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल के अनुसार गुरु का राशि परिवर्तन काफी अनुकूल माना जाता है क्योंकि देव गुरु की दृष्टि अमृत समान मानी गई है।


गुरु एक शुभ ग्रह है और सभी के लिए अच्छे परिणाम लेकर आता हैं। गुरु के मकर राशि में गोचर का अपनी-अपनी चंद्र राशि के अनुसार लोगों पर इस प्रकार प्रभाव पड़ेगा

मेष- मकर राशि में गुरु गोचर के प्रभाव से आपके कार्यक्षेत्र में कुछ उतार-चढ़ाव की स्थितियां बनेंगी। कुछ लोगों को ट्रांसफर मिलने की संभावना रहेगी और यह बृहस्पति आपसे काफी मेहनत करवाएगा। कार्यक्षेत्र में आपका अति आत्मविश्वास आपको परेशानियों में डाल सकता है, इसलिए अपने काम से काम रखें और दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप ना करें। बृहस्पति के इस गोचर से आपके धन की वृद्धि होगी और आप समाज में सम्मानित बनेंगे। आपके पारिवारिक जीवन में भी खुशियां आएंगी। आपके अटके हुए काम भी बनेंगे।

वृषभ- बृहस्पति का यह गोचर वृषभ राशि के जातकों के लिए मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। इस गोचर के प्रभाव से सामाजिक रुप से आपकी काफी उन्नति होगी और आप का समाज में कद ऊंचा होगा। आपको अचानक से कोई पैतृक संपत्ति प्राप्त होने के योग बन सकते हैं, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर बनेगी। आर्थिक तौर पर यह गोचर सामान्य रहने वाला है। यदि आप अभी अविवाहित हैं और किसी प्रेम संबंध में हैं तो इस गोचर का अनुकूल परिणाम मिलेगा।

मिथुन- मिथुन राशि के लोगों के लिए बृहस्पति का यह गोचर प्रतिकूल परिणाम लेकर आएगा। आपके खर्चों में अचानक वृद्धि होगी, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति काफी बिगड़ सकती है और आपको बहुत ज्यादा तनाव का सामना करना पड़ सकता है। इस गोचर काल में स्वास्थ्य संबंधित बड़ी परेशानियां सामने आ सकती हैं, बेवजह की यात्राएं आपके धन और स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकती हैं।

कर्क- कर्क राशि वालों के लिए देव गुरु बृहस्पति का यह गोचर कई मायनों में बहुत अनुकूल साबित होगा। देव गुरु बृहस्पति की कृपा से आपकी आमदनी में जबरदस्त बढ़ोतरी देखने को मिलेगी और आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ बनेगी। व्यापार के मामले में भी आपके अच्छे संपर्क स्थापित होंगे, जो आपको आगे बढ़ने में मदद करेंगे। इस समय में आप अपने व्यापार को गति देने में भी सफल होंगे। यह गोचर दांपत्य जीवन में मिले जुले परिणाम लेकर आएगा। छोटी मोटी यात्राएं आपके व्यापार को वृद्धि प्रदान करेंगी।

सिंह- इस गोचर के प्रभाव से आपके खर्चों में बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। आपका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, कोई बड़ी बीमारी हो सकती है, इसलिए स्वास्थ्य पर ध्यान दें। इस समय काल में आपको वाहन सावधानी से चलाना चाहिए। किसी अन्य के झगड़े में हाथ ना डालें, अन्यथा नुकसान उठाना पड़ सकता है। आपके पास अधिक मात्रा में धन है तो किसी को अपना धन उधार ना दें क्योंकि उसके वापस लौटने की उम्मीद नहीं रहेगी।

कन्या- बृहस्पति का गोचर आपके लिए कुछ मामलों में बहुत अच्छा और कुछ मामलों में परेशानी का परिणाम लेकर आया है। कुंडली में स्थितियां अनुकूल हों तो इस गोचर के प्रभाव से आप को संतान की प्राप्ति हो सकती है। इस समय में आपके परिवार में सुख और शांति की बढ़ोतरी होगी और आपकी आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। यदि आप किसी से प्रेम संबंध में हैं तो यह गोचर आपके लिए उतार-चढ़ाव की स्थिति बनाएगा।

तुला- यह गोचर कार्यक्षेत्र में आपकी स्थितियों को बलवान बनाएगा और आपके पक्ष में नतीजे आने लगेंगे। आपके काम की जमकर तारीफ भी होगी। इस गोचर काल में आपके परिवार के बुजुर्गों का स्वास्थ्य भी पीड़ित हो सकता है लेकिन इस गोचर का अच्छा फल यह होगा कि इस समय में आप कोई प्रॉपर्टी खरीदने में कामयाब होंगे और आपके प्रयासों से आपको सुखों की प्राप्ति होगी। माताजी की सेहत का ध्यान रखें। आपके घरेलू खर्च बढ़ेंगे। इस समय किसी भी प्रकार के विवाद से बच कर रहें।

वृश्चिक- बृहस्पति आपके तीसरे भाव से गोचर करेगा और इसकी वजह से आपको यात्राओं पर बार-बार जाना पड़ेगा। आपको शारीरिक कष्ट और आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। यह गोचर काल आपके दांपत्य जीवन के लिए बेहद अनुकूल और प्रभावशाली रहेगा। यदि आप अभी तक सिंगल हैं और किसी से प्रेम करते हैं तो यह गोचर आपके लिए अनुकूल रहेगा। आपके विवाह का प्रस्ताव मंजूर होगा।

धनु- परिवार में किसी नए व्यक्ति का आगमन हो सकता है। परिवार में खुशियां आएंगी और आप पूजा पाठ तथा शुभ कार्य संपन्न करेंगे। समाज में आपको ऊंचा स्थान मिलेगा। आपकी वाणी में गंभीरता आएगी। अपने परिवार को मजबूती देंगे और व्यापार तथा प्रॉपर्टी से अच्छा धन लाभ अर्जित करेंगे। यह गोचर आपके कार्यक्षेत्र को भी प्रभावित करेगा और आपकी सोचने समझने की शक्ति और आपका अंतर्ज्ञान आपको अपने कार्यक्षेत्र में मजबूत बनाएगा।

मकर- मकर राशि के लिए बृहस्पति तीसरे और बारहवें भाव का स्वामी होता है और अपने इस गोचर काल में वह मकर राशि में ही गोचर कर रहा है। इसकी वजह से आप बहुत अच्छे-अच्छे निर्णय लेंगे। गुरु बृहस्पति के इस गोचर के प्रभाव से आपके पारिवारिक जीवन में खुशियां आएंगी और आपका दांपत्य जीवन सुधरेगा। व्यापार के सिलसिले में यह गोचर आपके लिए काफी अनुकूल रहेगा। बृहस्पति का गोचर आपकी शिक्षा में उन्नति के अवसर लेकर आएगा और आपकी मेहनत काम आएगी।

कुंभ- बृहस्पति का यह गोचर आपको शारीरिक तौर पर परेशान कर सकता है क्योंकि इस समय काल में आपका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है और आप बीमार पड़ सकते हैं। अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें। आपके खर्चे अचानक बढ़ने लगेंगे। अच्छे और धार्मिक कार्यों पर खूब दिल खोलकर खर्च करेंगे लेकिन ज्यादा खर्च भी आपकी आर्थिक स्थिति को बिगाड़ सकता है। वाद विवाद तथा कोर्ट कचहरी से संबंधित मामलों के लिए यह समय कमजोर रह सकता है।

मीन-देव गुरु बृहस्पति मीन राशि के स्वामी हैं, इसलिए इनका यह गोचर आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा। गुरु के गोचर के प्रभाव से आपको बहुत अच्छे नतीजे मिलेंगे। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी। किसी खास व्यक्ति की सलाह आपके बहुत काम आएगी। आपका सामाजिक दायरा बढ़ेगा। दांपत्य जीवन में भी यह गोचर अनुकूल परिणाम प्रदान करेगा। रिश्तों में तनाव कम होगा, जिससे आप खुलकर राहत की सांस लेंगे। आपके विवाह के योग भी बन सकते हैं।
Share To:

Post A Comment: