-मरीज के साथ आए तीमारदार को लौटाया पर्स 



दिनेश सिंह सुरीयाल/ऋषिकेश।संसार में अभी भी ईमानदारी जिंदा है, इस बात की मिसाल को एक बार फिर से सच साबित कर दिखाया राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश के ब्लड बैंक में नियुक्त स्टाफ नर्स ज्योत्सना थपलियाल ने एक महिला का पर्स लौटा कर। बुधवार को जनपद टिहरी गढ़वाल की बछेलीखाल तोली गांव निवासी मनोरमा रावत अपनी वृद्ध सास मासंती देवी का इलाज करवाने के लिए राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश लेकर आई। जहां चिकित्सक ने मरीज को भर्ती कर दिया और कहा कि मरीज को खून चढ़ाना होगा।  

जिसके लिए मनोरमा रावत ने ब्लड बैंक में रक्तदान किया व वहां से खून लेकर चली गई। तभी ब्लड बैंक की स्टाप नर्स ज्योत्सना थपलियाल की नजर वहां पड़े पर्श पर पड़ी व उन्होंने से खोलकर देखा तो उसके अंदर हजार रुपए थे। ज्योत्सना थपलियाल ने ईमानदारी की मिसाल दिखाते हुए शीघ्र वार्ड में जाकर मनोरमा रावत को उनका पर्स लौटा दिया। 

उनकी इमानदारी पर ब्लड बैंक प्रभारी डॉ मुकेश कुमार पांडे ने खुशी जाहिर की व कहा कि पैसों की चकाचौंध के बीच ईमानदार रहना ही अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है। उनकी इस ईमानदारी से समाज को प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। वहीं मरीज के तीमारदार मनोरमा रावत, शर्मिला रावत व बलवंत सिंह के साथ ही अस्पताल के डॉक्टर, फार्मेसिस्ट व स्टाफ ने भी ज्योत्सना थपलियाल के इस कार्य की प्रशंसा की।
Share To:

Post A Comment: