-निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत के मार्गदर्शन में एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए कंप्रेशन ओनली लाइफ सपोर्ट (कॉल्स) प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित 

ऋषिकेश।अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से देहरादून एयरपोर्ट जौलीग्रांट में कंप्रेशन ओनली लाइफ सपोर्ट (कॉल्स) प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया,जिसमें विशेषज्ञों ने एयरपोर्ट अधिकारियों एवं कर्मचारियों को को कॉर्डियक अरेस्ट से ग्रसित मरीज को सीपीआर देने की ट्रेनिंग दी।                                                                                                                                                                                                         
                           
सोमवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश की ओर से निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत के मार्गदर्शन में एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए कंप्रेशन ओनली लाइफ सपोर्ट (कॉल्स) प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई। संस्थान के एडवांस सेंटर ऑफ कंटिन्यूअस प्रोफेशनल डेवलपमेंट की विभागाध्यक्ष प्रो.शालिनी राव की देखरेख में आयोजित कार्यशाला में डा. प्रदीप अग्रवाल, अरुण वर्गिश,हिमानी,रिद्धिमा,चेवांग,सोनम,उर्वशी,प्रियंका,साइना,इंदिरा,काजल,मालविका,जिगमित,मेनका,नेहा,नीतू कुमारी,सुखप्रीत आदि ने प्रतिभागियों काे कॉल्स का प्रशिक्षण दिया।                                                                                                                                                                                   
        
उन्होंने बताया कि कॉर्डियक अरेस्ट से अचानक बेहोशी छाने की स्थिति में सीपीआर देकर किस तरह से ग्रसित मरीज के हार्ट को दोबारा शुरू किया जा सकता है। बताया गया कि प्रशिक्षुओं को एम्स ऋषिकेश की ओर से प्रशिक्षण प्रमाणपत्र दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस तरह के प्रशिक्षण से कॉर्डियक अरेस्ट से ग्रसित व्यक्ति के जीवन की रक्षा की जा सकती है। 
                                     

इस अवसर पर एयरपोर्ट डायरेक्टर डीके गौतम,सहायक महाप्रबंधक संचार अजय श्रीवास्तव आदि मौजूद थे। गौरतलब है कि संस्थान के एडवांस सेंटर ऑफ कंटिन्यूअस प्रोफेशनल डेवलपमेंट की ओर से कॉर्डियक अरेस्ट से ग्रसित लोगों की जीवनरक्षा के लिए विभिन्न स्थानों पर इस तरह की कार्यशालाओं का आयोजन किया जा रहा है,जिसके तहत बीते सप्ताह हिंदुस्तान नेशनल ग्लास फैक्ट्री श्यामपुर के अधिकारियों व कर्मचारियों को भी तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा चुका है। जिसमें कंपनी के प्लांट हेड विकास सिंह,एचआर हेड विपिन बिष्ट आदि मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: