-एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत द्वारा दो नई अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित अल्ट्रासाउंड मशीन का शुभारंभ 


ऋषिकेश।अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में इंटिग्रेटेड ब्रेस्ट कैंसर क्लिनिक (आईबीसीसी) विभाग में निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित दो नई अल्ट्रासाउंड मशीन का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि नई मशीनों के स्थापित होने से मरीजों के परीक्षण में सहायता मिलेगी। 
                                     

साथ ही इन मशीनों से अनुसंधान के कार्यों में भी मदद मिल सकेगी।इंटिग्रेटेड ब्रेस्ट कैंसर क्लिनिक में आयोजित कार्यक्रम में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो.रवि कांत ने दो अल्ट्रासाउंड मशीनों का विधिवत शुभारंभ किया। 


इस अवसर पर निदेशक एम्स ने बताया कि संस्थान के आईबीसीसी विभाग में इन मशीनों के स्थापित होने से मरीजों को जांच में काफी हद तक मदद मिलेगी,जिससे मरीजों को इसके लिए लंबी प्रतीक्षा नहीं करनी होगी।                                                                                                                

निदेशक प्रो. रवि कांत ने बताया कि इस मशीन का उपयोग कई तरह के अनुसंधान के कार्यों के लिए भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि संस्थान में इसी तरह नई तकनीक पर आधारित अन्य मशीनें भी स्थापित की जाएंगी। 

                                        

इस अवसर पर निदेशक एम्स ने आईबीसीसी प्रमुख व डीन (एलुमिनाई )प्रो. बीना रवि व उनकी टीम के सदस्यों को नई तकनीक पर आधारित मशीन के स्थापित होने पर बधाई दी और टीम के कार्यों को सराहनीय बताया।                                                                                                                                                                                           

इस अवसर पर आईबीसीसी प्रमुख प्रो. बीना रवि ने मशीन की नई तकनीक व इससे मरीजों को होने वाले फायदों से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि यह अत्याधुनिक तकनीक की मशीन है,जिससे जल्द परीक्षण किया जा सकेगा।                                                     
                                                                   
इस अवसर पर उप निदेशक( प्रशासन) अंशुमन गुप्ता,डीन (एकेडमिक) प्रोफेसर मनोज गुप्ता,प्रो. यूबी मिश्रा, डा. अनुभा अग्रवाल, डा. अंजुम सईद, डा. प्रतीक शारदा, अशीषा जांगिर आदि मौजूद थे।
Share To:

Post A Comment: