ऋषिकेश 3 फरवरी। सरस्वती विद्या मंदिर, आवास विकास कॉलोनी ऋषिकेश में आज इस्कॉन संस्था द्वारा आयोजित श्रीमदभगवत गीता पर आधारित नैतिक मूल्य प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल द्वारा पुरस्कृत किया गया।
                                       

इस्कॉन संस्था द्वारा द्वारा आयोजित श्रीमदभगवत गीता पर आधारित नैतिक मूल्य प्रतियोगिता में ऋषिकेश के 16 स्कूलों के बच्चों ने प्रतिभाग किया। प्रतिभागी 1500  बच्चों में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा सफल 48 बच्चों को पुरस्कृत किया गया।इस अवसर पर प्रतियोगिता में ऋषिकेश स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली अनुष्का जोशी एवं हर्ष को एस्कॉन के माध्यम से विधानसभा अध्यक्ष ने साइकिल पुरस्कार के रूप में वितरित की एवं अन्य सभी 48 बच्चों को प्रतीक चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
                                           
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि गीता एक सार्वभौम ग्रंथ है,यह किसी काल, धर्म,संप्रदाय या जाति विशेष के लिए नहीं अपितु संपूर्ण मानव जाति के लिए हैं।श्रीमद्भागवत गीता ग्रन्थ मनुष्य के संपूर्ण जीवन को सही दिशा में परिवर्तित करने के लिए पर्याप्त हैं। गीता में वह शक्ति है जो हारे हुए निराश व्यक्ति को पुन: संपूर्ण बल एवं आशा के साथ खड़ा कर सकती है।उन्होंने कहा कि गीता में जीवन की हर परेशानी का हल है।मन में कोई भी दुविधा हो, कोई भी सवाल हो या निर्णय लेने में किसी तरह का अंतर्द्वंद ही क्यों न हो, गीता के पास हर मुश्किल का हल है। आज के जीवन में भी किसी भी समस्या के समाधान और एक अच्छे और प्रभावशाली व्यक्तित्व के निर्माण में गीता की सीखों का सहारा लिया जाता है।
                                      
अग्रवाल ने कहा कि विद्यालयों में आयोजित सम्मान समारोह एवं संस्कृति पर आधारित  प्रतियोगिताओं आदि के आयोजन से बच्चों को प्रोत्साहन प्राप्त होता है तथा उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए मंच मिलता है। उन्होंने कहा की व्यक्तित्व के विकास में शिक्षा व संस्कार का होना जरूरी है।
                                         

इस अवसर पर एस्कॉन समिति के अध्यक्ष हरे कृष्णा प्रभु, विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य राजेंद्र पांडे, हेमंत ठाकुर सहित प्रतिभाग करने वाले बच्चे व अन्य लोग उपस्थित थे।
Share To:

Post A Comment: