हरिद्वार प्रमोद कुमार।ज्वालापुर में  परम पूज्य संत शिरोमणि गुरु रविदास लीला समिति रजि.मौ.कडच्छ ज्वालापुर हरिद्वार में 61वे वार्षिकोत्सव समारोह 07 फरवरी 2020से15 फरवरी 2020 को बड़ी धुमधाम से मनाया जा रहा है।

गुरु रविदास लीला समिति रजि.समारोह का उद्घाटन मुख्य अतिथि मदन कौशिक कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड सरकार व विशिष्ट अतिथि नरेश गिहार समाजसेवी वरिष्ठ भाजपा नेता,प्रदीप कुमार चेयरमैन सीएमआई हास्पिटल रहे। समारोह के मुख्य अतिथि माननीय मदन कौशिक कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड सरकार ने अपने सम्बोधन में कहा कि संत शिरोमणि गुरु रविदास महाराज ने कहा था कि ऐसा चाहु राज में, जहां मिले संबंध को अन्न,छोट-बडो सबसे रविदास रहै प्रसन्न।

साथ ही कहा कि रविदास ऐसे संत हुए हैं जिन्होंने मौची का काम करते हुए कुंडल में गंगा को प्रकट कर दिया था लोगों का कहना है कि भगवान ने धर्म की रक्षा के लिए रविदास जी को धरती भेजा था क्योंकि इस समय पाप ज्यादा बढ़ गया था लोगों धर्म के नाम पर जाति रंगभेद करते थे।

                                        

रविदास ने बहादुरी से सभी भेदभाव का सामना किया और विश्वास एवं जाति की परिभाषा लोगों को समझाई।वे लोगों को समझाते थे कि इंसान जाति, धर्म या भगवान पर विश्वास के द्वारा नहीं जाना जाता है बल्कि वो अपने कर्मों के द्वारा पहचाना जाता है।

रविदास ने समाज में फैले छुआछूत के प्रचलन को भी खत्म करने के लिए बहुत प्रयास किये। विशिष्ट अतिथियों ने अपने सम्बोधन में कहा कि रविदास लोगो को सन्देश देते थे कि भगवान ने इंसान को बनाया न की इंसान ने,जयंती पर अनुयाई इस दिन पवित्र नदी में स्नान करते है और फिर रविदास की फोटो या प्रतिमा की पूजा करते है रविदास जयंती मनाने का उद्देश्य यही है कि गुरु रविदास  की शिक्षा को याद किया जा सके।

                                    

उनके द्वारा दी गई भाईचारे शांति की सीख को दुनिया वाले एक बार फिर अपना सके। उद्घाटन समारोह में मुख्य रूप से श्यामल दबोडिये,योगेन्द्र पाल रवि,रमेश भूषण,विनोद,राजन कुमार,राजेन्द्र पटेल,सतीश कुमार,सोमपाल सिंह,तीर्थपाल रवि,डेविड मुखिया,महिपाल,पवन विजयपाल,महेंद्र पाल,कमाल सिंह,योगेश,अरविंद,राजेन्द्र लाम्बा,अंतरिक्ष पालीवाल,आदि सैकड़ों महिलाओं पुरुषों ने भाग लिया।
Share To:

Post A Comment: