देहरादून एस के विरमानी। यातायात अभिलेखों का डिजिटाइजेशन किये जाने तथा यातायात पुलिस एवं सीपीयू द्वारा मोटर वाहन अधिनियम के अन्तर्गत की जाने वाले चालानी कार्यवाही के उपरान्त न्यायालय अथवा परिवहन विभाग को प्रेषित किये जाने वाले आरोप पत्र तक की सम्पूर्ण प्रक्रिया हेतु एक साफ्टवेयर विकसित करने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा पोलिवे अधीक्षक यातायात को निर्देशित किया गया था।

जिसके क्रम में प्रकाश चन्द्र,पुलिस अधीक्षक यातायात,देहरादून द्वारा संबंधितों से समन्वय स्थापित कर एक सॉफ्टवेयर बनवाया गया।जो प्रायौगिक तौर पर सफल रहा है। 

पूर्व में उक्त प्रक्रिया के तहत समय एवं जनशक्ति का अपव्यय हो रहा था। जिसकी समीक्षा एवं सदुपयोग के दृष्टिगत पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक यातायात देहरादून द्वारा यह पहल सुनिश्चित की गयी है।उक्त सॉफ्टवेयर यातायात पुलिस के लिए निःशुल्क तैयार किया गया है। 

जनपद पुलिस के एमoवीo की एक्ट चालानी कार्यवाही में एकरुपता बनाये रखने हेतु यातायात पुलिस द्वारा उक्त विकसित सॉफ्टवेयर को जनपद के समस्त थानों में अधिष्ठापित (Install) किये जाने की योजना है । जिसके लिए आज 25 जनवरी 2020 को पुलिस अधीक्षक यातायात देहरादून की अध्यक्षता में जनपद के समस्त थाना कार्यालयों में कंप्यूटर संचालित करने वाले कर्मचारियों के साथ गोष्ठी आयोजित की गई। 

गोष्ठी के दौरान उपस्थित सॉफ़्टवेयर एक्सपर्ट गौरव कुमार झा द्वारा सॉफ्टवेयर की जानकारी प्रदान की गई तथा पुलिस अधीक्षक यातायात द्वारा अपेक्षा की गई कि चालानी कार्रवाई को इस सॉफ्टवेयर में फीड करें। 

जिससे चालानी कार्यवाही का आरोपपत्र कंप्यूटर द्वारा स्वतः (Automatic ) तैयार किया जायेगा, जिसे प्रिंट किया जा सकेगा। साथ ही आंकड़ों को संरक्षित व एम वी एक्ट के अंतर्गत वाहन /चालक की पूर्व चलानी कार्रवाई की जानकारी भी आसानी से प्राप्त हो पाएगी । 

वर्तमान समय में प्रथम चरण में यह सॉफ्टवेयर थाना कोतवाली नगर ,राजपुर,नेहरू कॉलोनी, रायपुर,डालनवाला में अधिष्ठापित किया जा चुका है।शेष थानों में यह साफ्टवेयर शीघ्र ही अधिष्ठापित किया जायेगा ।
Share To:

Post A Comment: