ऋषिकेश।13 जनवरी 2020 को एम्स ऋषिकेश में पार्किंग के नाम पर चल रही अवैध वसूली का जागृति एक प्रयास संस्था ने लगाया पार्किंग  के नाम पर अवैध वसूली आरोप। जिसको लेकर संस्था ने एक दिवसीय धरना उप जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर लगाया संस्था का आरोप है कि अनुबंध के मुताबिक वसूला जाए पार्किंग शुल्क जिसमें धरने को देखकर शिकायत का 
                                    

संज्ञान लेते हुए उप जिलाधिकारी प्रेम लाल ने एम्स के निदेशक को पत्र जारी करते हुए कहा कि एम्स परिसर में दुपहिया वाहन और चार पहिया वाहन की पार्किंग के लिए निविदा के माध्यम से ठेका दिया गया है। निविदा अनुबंध की शर्तों के अनुसार यह पार्किंग 12 घंटे के लिए अनुबंधित है लेकिन ठेकेदार की ओर से मनमाने तरीके से अनुबंध के विपरीत 12 घंटे के भीतर एक से अधिक बार पार्किंग शुल्क लेने की सूचना प्राप्त हुई है। इससे तीमारदारों और स्थानीय लोगों में रोष है एसडीएम प्रेमलाल ने एम्स निदेशक से कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए शर्तों के अनुसार शुल्क लेने को कहा है आपको 
                                       


बता दें पार्षद राजेंद्र सिंह बिष्ट ने कहा है कि एम्स परिसर की पार्किंग में ठेकेदार की ओर से पार्किंग शुल्क के नाम पर मरीजों और उनके तीमारदारों का आर्थिक मानसिक शोषण किया जा रहा है।वाहन स्वामी के 1 दिन मैं जितनी बार वाहन खड़ा किया जाता है उतनी बार पार्किंग शुल्क लिया जा रहा है। बार-बार शुल्क अगले देने का विरोध करने पर ठेकेदार के कर्मचारी शिकायत कर्ताओं से मारपीट करने को तैयार हो जाते हैं। और वही संस्था के अध्यक्ष अरविंद हटवाल ने भी कहा कि एम्स परिसर में पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली बंद नहीं हुई तो संस्था के सभी सदस्य अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेंगे। इस अवसर पर धरना देने वालों में जागृति एक प्रयास संस्था के अध्यक्ष अरविंद हटवाल,नगर निगम पार्षद राजेंद्र सिंह बिष्ट, प्रदीप जोशी, संजीव रावत, शिवचरण, गौरव राजपूत ,अजय कुमार ,राहुल पाल ,विवेक भंडारी ,रेखा रावत, लालमणि रतूड़ी ,हरीश आनंद, दिनेश बहुगुणा आदि बहु संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे।
Share To:

Post A Comment: