-स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज से भेंट कर आगामी महोत्सव में भारतीय कला और संस्कृति के विस्तृत परिदृश्य को उभारने हेतु हुई चर्चा

-महात्मा गांधी की 72 वीं पुण्यतिथि पर स्वामी चिदानन्द सरस्वती एवं परमार्थ गुरूकुल के ऋषिकुमारों ने अर्पित किये श्रद्धा सुमन



ऋषिकेश।30 जनवरी। परमार्थ निकेतन में लाइफ आर्ट फेस्टिवल के प्रतिनिधि मंडल व हाॅलीवुड फिल्म निर्माता निदेशक पधारे। उन्होने परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती से भेंट वार्ता कर लाइफ आर्ट फेस्टिवल को आध्यात्मिक संरक्षण और मार्गदर्शन प्रदान करने हेतु अनुरोध किया।लाइफ आर्ट फेस्टिवल एक ग्लोबल मीडिया और मल्टी मीडिया फेस्टिवल है। जो कि लाइफ,आर्ट एंड फिल्म्स को अनोखे कार्यक्रमों के साथ मनाता है। यह विभिन्न स्तर की कला और संस्कृतियों को एक मंच प्रदान करता है। इस मंच पर अंतर्राष्ट्रीय कलाकार एक साथ जुड़ते है तथा नवीन परियोजनाओं पर चर्चा होती है। इस फेस्टिवल का आयोजन एथेंस,सेंटोरिनी ग्रीस, नई दिल्ली,लखनऊ,न्यूयार्क और विश्व के अनेक स्थानों पर किया गया।परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष और ग्लोबल इंटरफेथ वाश एलायंस के संस्थापक स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज से चर्चा के दौरान लाइफ आर्ट फेस्टिवल के प्रतिनिधियों ने बताया 
                                      

कि लाइफ आर्ट फेस्टिवल में फिल्मों,संगीत,कला,मानवीय मुद्दों,सामाजिक न्याय,पशु कल्याण पर विस्तृत चर्चा होती है। प्रतिनिधि मंडल ने स्वामी से अनुरोध किया कि वे इस लाइफ आर्ट फेस्टिवल को आध्यात्मिक मार्गदर्शन और संरक्षण प्रदान करें।स्वामी ने सुझाव दिया कि इस वैश्विक आयोजन में पर्यावरण संरक्षण के विषय को भी सम्मिलित किया जाना चाहिये क्योकि वर्तमान समय में पर्यावरण और जल का प्रदूषण एक ग्लोबल समस्या है इसका समाधान भी विराट वैश्विक मंचों पर बेहतर तरीके से निकाला जा सकता है।इस अवसर पर स्वामी ने कहा कि महात्मा गांधी के विचारों से भारतीय गौरवमयी संस्कृति की झलक स्पष्ट हो जाती है। वास्तव में आज हमें खुद में बदलाव करने की जरूरत है जो हम इस दुनिया में देखना चाहते है।चर्चा के दौरान स्वामी ने 19 वीं सदी के लेखक अल्बर्ट पाइक के कथन को याद करते हुये  कहा कि हम जो कुछ भी अपने लिये करते है वह मृत्यु के साथ ही हमारे साथ चला जाता है परन्तु जो हम दूसरों के लिये 
                                   

करते है अनंत और अविनाशी होता है। प्रकृति और पर्यावरण का संरक्षण न केवल हमारे लिये, हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिये है बल्कि पृथ्वी पर रहने वाले सभी जीवों के लिये है।लाइफ आर्ट के प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि स्वामी चिदानन्द सरस्वती के साथ हुई हमारी वार्ता अविश्वसनीय आध्यात्मिक और कलात्मक विनिमय से युक्त थी। इस अवसर पर हाॅलीवुड फिल्म प्रोडूसर एण्ड डायरेक्टर राण मोर,मेंनेजर एवं डायरेक्टर जुलियट,फिल्म स्कोर कंपोज़र गिलाड बेनामरम,गुरू योडा और उनके सहयोगी उपस्थित थे।स्वामी के सान्निध्य में लाइफ आर्ट के प्रतिनिधि मंडल और नन्दिनी त्रिपाठी ने विश्व स्तर पर स्वच्छ जल की आपूर्ति हेतु विश्व ग्लोब का जलाभिषेक किया।
Share To:

Post A Comment: