-महापौर ने शहर की खुशहाली के लिए की अरदास, गुरूद्वारा कमेटी ने किया सम्मानित


ऋषिकेश-सिखों के दसवें गुरू गुरु गोविंद सिंह महाराज का प्रकाशोत्सव तीर्थ नगरी के तमाम गुरूद्वारों में बेहद धूमधाम से मनाया गया।

देवभूमि ऋषिकेश में प्रकाश उत्सव का सबसे बड़ा और प्रमुख आकर्षण लक्ष्मण झूला रोड स्थित गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब रहा।

प्रकाशोत्सव पर गुरुद्वारे में वृहस्पतिवार को गुरु ग्रंथ साहिब जी की हजूरी में शुरू किए गए अखंड पाठ साहिब के भोग डाले गए। गुरु चरणों में सुख शांति व सरबत की भलाई के लिए के लिए अरदास की गई। 
                                   

रागी जत्थे ने कीर्तन से संगत को गुरबाणी से जोड़ा। मौके पर नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने गुरु चरणों में शीश नवाजा।उन्होंने शहर की समृद्धि एवं खुशहाली  के लिए अरदास की। गुरुद्वारा कमेटी की ओर से महापौर को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर महापौर अनिता ममगाई ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह न सिर्फ आध्यात्मिक गुरु बल्कि बेमिसाल कवि व समर्पित भगत भी थे। वह महान योद्धा भी थे, जिन्होंने गरीबों की रक्षा के लिए अपना परिवार कुर्बान कर दिया। 
                                       

उनकी धर्म के प्रति बेमिसाल कुर्बानियां कभी भुलाई नहीं जा सकती है। सभी को उनके बताए हुए मार्ग पर चलना चाहिए।
सुबह से ही सिख पंथ के दसवें गुरु गोविंद सिंह महाराज के प्रकाशोत्सव पर हजारों संगतों की भीड़ गुरूद्वारे में उमड़नी शुरू हो गई थी।दोपहर के दीवान के प्रश्चात गुरु महाराज का अतूट लंगर बरता गया। जिसमें श्रद्धालुओं ने गुरु का प्रसाद लिया।
Share To:

Post A Comment: