ऋषिकेश एस के विरमानी।गुरुवार 08 जनवरी 2020 को निरीक्षक एश्वर्य पाल,प्रभारी एण्टीह्यूमन ट्रैफिकिंग सैल देहरादून व व0उ0नि0 ऋषिकेश व ओमकान्त भूषण को मुखबिर द्वारा सूचना अप्स हुई कि गुमानीवाला गली नं0 6 चीनी गोदाम रोड में देह व्यापार की सूचना है।गुमानीवाला चीनी गोदाम रोड गली नं0 6 में जाकर चेक किया तो सामने से UK07-Y-1044 सेन्ट्रो कार आती दिखाई दी, जिसकी सूचना मुखबिर द्वारा दी गयी थी।
       
उक्त गाड़ी के आगे अपनी गाड़ी लगाकर उक्त कार को रूकवाया गया तो कार चालक द्वारा कार को एकदम से रोककर कार का दरवाजा खोलकर भागने का प्रयास किया। परन्तु पुलिस द्वारा कार चालक को एकदम से घेर घोट कर मौके पर ही पकड़ लिया।

ऋषिकेश पुलिस द्वारा गिरफ्तार की जानकारी नारायण पाल पुत्र कलम सिंह निवासी हटनाली बनगांव तहसील चिन्यालीसौड़ उत्तरकाशी ओर जिसकी उम्र 27 वर्ष है और हाल किरायेदार-लक्ष्य पुत्र मनीष निवासी गली नं0 06 चीनी गोदाम रोड़ गुमानीवाला ऋषिकेश ओर गोविन्द पुत्र मंजीत निवासी गली नं0 19,चन्द्रभागा चन्द्रेश्वरनगर ऋषिकेश ओर जिसकी उम्र 26 वर्ष है और धर्मपाल पुत्र सोहन सिंह निवासी पोखरी भगवानपुर पोस्ट धारकोट देहरादून ओर जिसकी उम्र 32 वर्ष है ओर पायल पत्नी गोविन्द निवासी गली नं0 19 चन्द्रेश्वरनगर ओर जिसकी उम्र 22 वर्ष है ओर आरती पत्नी राजकुमार निवासी गांव सिठोरा मणिनाथ मन्दिर के पास थाना सुभाषनगर नवाबगंज बरेली उ0प्र0 ओर जिसकी उम्र 27 वर्ष है और सुनीता पत्नी तेगबहादुर निवासी गांव झबरानी कोटीमयचक थानो थाना रानीपोखरी देहरादून ओर जिसकी उम्र 26 वर्ष है।

आपको बता दें जिसके पास से माल बरामदगी में ₹78000/- नकद,छः मोबाइल फोन,चार कंडोम,सात सेक्स वर्धक गोली प्राप्त किया गया।
                                     

ऋषिकेश पुलिस द्वारा पूछताछ की जानकारी में अभियुक्त नारायण पाल द्वारा बताया कि साहब मे साथ बैठी महिला को डिमाण्ड पर ले जा रहा था। मैं जिस्म फरोसी का धन्धा करवाता हॅूं। जिस मकान में मैं किराये पर रहता हॅूं,उसमें भी मैं यही काम करवाता हॅूं। अभी भी उसमें दो महिला व दो पुरूषो कों इसी काम के लिये छोड़कर आया हॅूं,जिसमें मेरा एक साथी गोविन्द भी है।जिनको मैं साथ चलकर पकड़वा सकता हॅूं।
    
बाहर डिमाण्ड पर एक रात के बीस हजार रूपये लेता हॅूं।तथा अपने कमरे के अलग से पैसे लेता हूॅ। जिनमें से आधा पैसा मैं इन लड़कियों को देता हॅूं। लडकियो को डिमाण्ड पर बाहर मैं स्वयं अपनी इसी कार से छोड़ने व लेने जाता हॅूं। 
   
इस पर नारायणपाल व पायल को साथ साथ लेकर नारायणपाल के कमरे मे गए।मकान के पास पहुंचकर चेक किया तो एक महिला द्वारा दरवाजा खोला गया जो दरवाजा खुलते ही अन्दर की तरफ भागी जिसको तुरन्त म0कां0 द्वारा अन्दर जाकर पकड़ा व हमराह पुलिसबल द्वारा कमरे में बैठे दो अन्य व्यक्तियों को पकड़ा जहां एक महिला और मौजूद थी।
   
सख्ती से पूछताछ की तो नारायण ने बताया कि मैं लगभग 5-6 महिने से देह व्यापार का धन्धा चला रहा हॅूं।तथा मैं अपने मोबाईल से लोगो को व्हाटसएप पर लड़कियों के फोटो भेजकर सौदाकर उनकी पसन्द के अनुसार लड़कियां छोड़कर आता हॅूं। 

जिसमें गोविन्द भी मेरी मदद करता है तथा ग्राहकों की व्यवस्था करता है।आरती,सुनिता,पायल व गोबिन्द से जो रूपये बरामद हुये हैं,वह देह व्यापार से कमाये रूपये हैं। अभियुक्त नारायण से बरामद कार उपरोक्त के कागजात तलब किये तो दिखाने में कासिर रहा जिसे मोटर वाहन अधिनियम में सीज किया गया।सभी अभियुक्त गणों को समय से माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।
Share To:

Post A Comment: