ऋषिकेश एस के विरमानी।।अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में अब विभिन्न स्थायी पदों के लिए जारी होने वाले नियुक्तिपत्र सिक्योरिटी फीचर्स से लैस होंगे, जिससे कोई भी व्यक्ति नकली ऑफर लैटर के जरिए एम्स में चयनित होने का दावा न कर सके। नर्सिंग ऑफिसर ग्रेड-टू के लिए चयनित अभ्यर्थियों से एम्स प्रशासन ने इसकी शुरुआत कर दी है। गौरतलब है कि अब तक एम्स ऋषिकेश द्वारा संस्थान से एमबीबीएस व न​र्सिंग से पासआउट होने वाले विद्यार्थियों को सिक्योरिटी फीचर्स युक्त संस्थागत शैक्षणिक प्रमाणपत्र जारी किए जाते थे। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि प्रामाणिक दस्तावेजों की सुरक्षा के लिहाज से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश की ओर से एहतियातन यह कदम उठाया गया है। उन्होंने बताया कि इन दिनों जारी हो रहे नर्सिंग ऑफिसर ग्रेड -टू के नियुक्तिपत्रों को सिक्योरिटी फीचर्स से लैस किया गया है, इसके बाद एलडीसी समेत भविष्य में संस्थान में विभिन्न पदों पर नियुक्त होने वाले कार्मिकों को भी सिक्योरिटी फीचर्स वाले ऑफर लैटर जारी किए जाएंगे। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि 16 सिक्योरिटी फीचर्स से लैस इस तरह के नियुक्तिपत्र की डुप्लीकेसी करना संभव नहीं होगा। निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत ने बताया कि सिक्योरिटी प्रेस से प्रिंटेड ऑफर लैटर्स में दिए गए सिक्यो​रिटी फीचर्स में से कई फीचर्स की पहचान करना संभव ही नहीं है। उन्होंने बताया कि संस्थान में डेढ़ साल पहले शैक्षणिक प्रमाणपत्रों (डिग्री व मार्कशीट) को सिक्योरिटी फीचर्स से लैस कर दिया गया था, जिससे कोई एम्स के नाम पर फर्जी प्रमाणपत्रों का इस्तेमाल नहीं कर सके। संस्थान के रजिस्ट्रार राजीव चौधरी ने बताया कि सिक्योरिटी फीचर्स से लैस ऑफर लैटर लोगो लेजर जेनरेटेड वाटर मार्क है, जिसमें बारकोर्ड,क्यूआर कोर्ड जैसे कई सिक्योरिटी फीचर्स हैं। रजिस्ट्रार चौधरी के अनुसार इस ऑफर लैटर को फाड़कर नष्ट करना भी संभव नहीं है।
Share To:

Post A Comment: